Parts of Speech in Hindi | Definitions, Meaning & Examples

इस article में हम Parts of speech in hindi के बारे में जानेंगे। Parts of speech क्या है, इन्हे कितने भागों में बाटा गया है और उनके उदाहरण क्या है?

Parts of Speech in Hindi

Partition of a sentence according to its uses is called ‘parts of speech’.

Or

Sentences के शब्दों को रूप, प्रयोग और बनावट के आधार पर आठ भागो में बांटा गया है, जिन्हे Parts of speech (शब्द भेद) कहते है। English भाषा में parts of speech के आठ प्रकार होते है।

parts of speech in hindi
parts of speech in hindi
  • Noun (संज्ञा)
  • Pronoun (सवर्नाम)
  • Adjective (विशेषण)
  • Verb (क्रिया)
  • Adverb (क्रियाविशेषण)
  • Preposition (संबंधसूचक)
  • Conjunction (संयोजक)
  • Interjection (विस्मयसूचक)

1. Noun 

A noun is a word used to name a person, place, thing or an idea.

किसी वयक्ति, वस्तु, स्थान, गुण, कार्य और अवस्था का नाम संज्ञा कहलाता है। उदाहरण –

व्यक्तिRam is my best friend.
Sita is sewing.
स्थानI live in my village.
India is a large country.
वस्तुThis is a chair.
It is her pen.
पशुThis is my horse.
The buffalo is a domestic animal.
गुणHonesty is the best policy.
Beauty needs no ornaments at all.
कार्यSmoking is injurious to health.
Jogging is a good exercise.
अवस्थाA government tries hard to eradicate poverty.
Rest relaxes body.

2. Pronoun 

A word that is used in place of a ‘noun’ is called a pronoun.

संज्ञा के स्थान पर प्रयोग किये जाने वाले शब्दों को सर्वनाम (pronoun) कहते है। Pronoun दो शब्दो से मिलकर बना है ‘pro’ + ‘noun’ अर्थात pro का अर्थ है for (के लिए) और noun का अर्थ है संज्ञा।

ऊपर table में ‘Ram’ और ‘table’ nouns है, जिनके स्थान पर ‘he’ और ‘it’ का प्रयोग किया गया है, जो की pronouns है।

Adjective 

An adjective adds some meaning to a noun or pronoun Or a word that tells you more about a noun.

जो शब्द noun और pronoun के गुणों, संख्या और परिणाम की जानकारी देते है, Adjectives कहलाते है।

  • The lazy dog cannot play.
  • Do you take bath in cold water?
  • You must not ignore the poor students.
  • Neeta is a young girl.


उपरोक्त वाक्यों में ‘lazy, cold, poor’ और ‘young’ शब्दों से noun के गुण, दोष और रंग आदि का पता चलता है। अतः ये शब्द adjectives कहलाते है।

3. Verb 

A verb is a word that tells about the action or state of subject, object, etc.

जो शब्द वाक्य में होना, रखना या कार्य का बोध कराये, उन्हें verbs कहते है। Verb शब्द लैटिन भाषा के verbum से बना है।  Verb का अर्थ – a word (एक शब्द) है। प्रत्येक वाक्य में verb का होना आवश्यक है। जैसे – उपरोक्त sentences में ‘bought, wrote, is,’ व् ‘are’ verbs है।

Read More – Present Perfect Continuous Tense in Hindi

4. Adverb 

The words which modify verbs, adjectives, or other adverbs are called adverbs.

जो सब किसी verb, adjective या adverb की विशेषता बताएं, adverbs कहलाते हैं।

Adverb का अर्थ केवल क्रिया विशेषण ही नहीं होता, क्योंकि adverb वाक्य में verb के अतिरिक्त अन्य parts of speech को भी प्रभावित करता है। अतः adverb वह शब्द है जो –

(a) किसी क्रिया की विशेषता बताता है जैसे –

He runs fast. (adverb-fast, verb-runs)
She always comes late. (adverb-late, verb-comes)

(b ) किसी विशेषण (adjective) की विशेषता बताता है, जैसे –

You are absolutely right. (adverb-absolutely, adjective-right)
He is really sincere. (adverb-really, adjective-sincere)

(c) किसी क्रिया विशेषण (adverb) की विशेषता बताता है, जैसे –

He addressed me very politely. (adverb- very, adverb-politely)
She speaks quite softly. (adverb-softly, adverb-quite)

Note – Adverb वह शब्द भी है जो –

(a) किसी संबंधवाचक अवयव (prepositions) की विशेषता बताता है, जैसे –

The bird flew exactly over his head. (adverb- exactly, preposition- over)
His mischief was decidedly above the average. (adverb- decidedly, preposition- above)

(b) किसी संयोजक (conjunction) की विशेषता बताता है, जैसे –

The train left just before I had reached the station. (adverb- just, conjunction-before)
He became lame simply because he had copied a bad thing. (adverb-simply, conjunction-because)

(c) किसी phrase की विशेषता बताता है, जैसे –

Luckily, Ram escaped unhurt. (adverb- Luckily, phrase- Ram escaped unhurt)
She will not read all through her novel. (adverb- all, phrase- through her novel)

(d) Sentence की विशेषता प्रकट करने वाले adverbs – probably, certainly, fortunately, luckily और surely आदि है, जैसे –

Fortunately, the baby is saved. (adverb- Fortunately)
Probably you are wrong. (adverb- probably)

(e) सामान्यता noun और pronoun की विशेषता बताने का काम adjectives करते हैं परंतु कुछ ऐसे adverbs भी है जो यहां तक कि noun और pronoun   की विशेषता बताते हैं। यह adverbs है – almost, even और only, जैसे –

Only Ram has passed. (adverb- Only, noun-Ram)
Only they can save you. (adverb- Only, pronoun-they)

5. Prepositions 

A preposition is a word which shows the relation of a noun or a pronoun with another word in a sentence.

जो शब्द noun या pronoun के साथ जुड़कर sentence के अन्य शब्दों के साथ उनका संबंध स्थापित करें, उन्हें prepositions कहते है, जैसे – at, in, for, under, above, over, against, on, like, etc.

Example –

(a) Gita sits under the tree.
(b) The earth revolves around the sun.
(c) He is in the playground.
(d) He advised us and went on.

उपरोक्त वाक्यों में under, around, in और on ‘prepositions’ है।

ध्यान रहे – जिस noun या pronoun से पूर्व prepositions का प्रयोग हुआ है वह nouns या pronouns उस prepositions के ‘objects’ कहलाते हैं।

6. Conjunctions 

A word that joins two or more words, phrases, clauses or sentences is called a conjunction.

जो शब्द दो या दो से अधिक शब्दों (words), उपवाक्यो (clauses), वाक्यांशों (phrases), या वाक्यों (sentences) को जोड़ें, उन्हें conjunctions कहते है।  इन्हें sentence linkers भी कहा जाता है, जैसे –

(a) Sita and Gita are waiting for you.
(b) I met him near the temple and under the tree.
(c) He always creates problems because he is a cheat.
(d) Ram is studying but his brother is wasting his time.
(e) Who is stronger than an elephant?
(f) We waited until he returned.

उपरोक्त sentences में and, but, because, than और until ‘conjunctions’ है।

7. Interjection 

Interjection is a word that helps us to throw our sudden feeling out that we have inside our heart or in our sentiment.

Interjections वह शब्द है जो हमारी अचानक उत्पन्न हुई भावनाओं को दर्शाने के लिए प्रयोग किए जाते हैं। Interjections खुशी या दुख, डर या आश्चर्य, जैसे अचानक हृदय से निकलने वाले उद्गारों को प्रकट करते हैं ,ऐसे शब्दों के sign of exclamation (!) यानि विस्मयादिबोधक चिन्ह लगाया जाता है।

यह शब्द sentence में अन्य शब्दों के साथ किसी प्रकार का संपर्क नहीं रखते हैं। इनका वाक्य में grammatical structure से कोई संबंध नहीं होता है। यह तो सिर्फ मस्तिष्क में अचानक उठी भावनाओं को प्रकट करते हैं। इन्हें कभी-कभी filled pause भी कहा जाता है, जैसे –

(a) Hurrah! We have won the match.
(b) Ah! You have betrayed me.

उपरोक्त वाक्यों में Hurrah! और Ah! ‘Interjections’ है।

Note – यह भी कोई जरूरी नहीं है कि केवल अकेला शब्द ही interjection के रूप में प्रयोग हो सकता हो। निम्नलिखित part of speech का समूह भी interjection की तरह प्रयोग किया जा सकता है, जैसे –

(a) You call her innocent!
(b) What a shameful act it is!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top